कोरोनावायरस एक ऐसी महामारी है जिसने दुनिया को तबाह करने की ठान ली है। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए यह बात कहना गलत नहीं है कि अगर इसको समय रहते काबू नहीं किया गया तो यह मनुष्य जाति को खत्म कर सकता है। कोरोना से बचने के लिए कुछ देशों ने लॉक डाउन का तरीका निकाला है। भारत भी उन्हीं में से एक है।

वही भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश मे 21 दिन के लॉकडाउन की भी घोषणा कर दी है। पीएम के बाद सभी राज्यों के सीएम ने भी इस पर मुहरे तो लगा दी है लेकिन आदमी की रोजमर्रा की जरूरतों के साथ रोज कमाने खाने वालों की भूख किस तरह मिटेगी ये किसी ने नही सोचा, इस 21 दिनों में गरीब भूख से जरूर मर जाएगा।


सभी राज्य सरकारों ने अंतरराज्यीय सीमाएं भी सील कर दी है। सीमाएं सील होने की वजह से जहाँ आवश्यक चीज-वस्तुओं की आपूर्ति में दिक्कत आ रही हैं वहीं जब वस्तुएं व्यापारियों तक ही न पहुंचेंगी तो आम आदमी की पहुंच में कैसे आ पाएंगी यह चिंता का विषय है। जैसा अभी देश की दसा है उसे देखते हुए यही लगता है वायरस वाकई काफी भयंकर रूप ले सकता है इसलिए आप इससे सुरक्षित घरो में रहे और अगर आपके आसपास कोई गरीब भूख से तड़प रहा हो तो आपके द्वारा हो सके उतनी मदद जरूर करिएगा।

loading...

Related News